Menu

Citizens for Justice and Peace

Videos

जेल का अनुभव: ऋचा सिंह ऋचा सिंह से CJP ने बातचीत की

छात्र नेता ऋचा सिंह से जब जेल में उनके बिताए गए दिनों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सलाखों के पीछे कुछ दिन रहना इस व्यवस्था को समझने के लिए बेहद ज़रूरी था और यह बाकी छात्रों के लिए भी एक सन्देश था कि अगर कोई छात्र नेता किसी के लिए लड़ाई…

सरकार की मंशा है कि नौजवान गाय के नाम पर लड़े या तो पकोड़े बेचे”: ऋचा सिंह छात्र नेता ऋचा सिंह से CJP ने बातचीत की

ऋचा सिंह ने हाल ही में UPPSC की परीक्षा में हुए पेपरलीक और उसपर सरकार के बेपरवाह रवैये पर कहा कि सरकार की मंशा ही नहीं है नौजवानों को नौकरी मिले और इसलिए वह चाहती ही है नहीं है कि परिक्षाएँ पूरी पारदर्शिता के साथ हो, छात्र इसी तरह अपने अधिकारों के लिए प्रदर्शन करने…

जेल से लौट कर खुल कर बोली ऋचा सिंह ऋचा सिंह से CJP ने बातचीत की

१९ जून को इलाहबाद में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा में भारी गड़बड़ी के बाद वहां आये नौजवान प्रार्थीओं ने भारी आक्रोश जताया। पर ना सिर्फ उनके मांगो को नज़रअंदाज़ किया गया, उनपर बबर्रता से पुलिस हमला भी हुआ और उनके साथ खड़े होने आयी छात्र नेता ऋचा सिंह को, उप्र प्रशासन ने…

Kashmiri Pandit leader, Sanjay Tickoo talks about Governor’s Rule in J&K In conversation with Teesta Setalvad

The declaration of Governor’s rule in Jammu and Kashmir has plunged the valley into political turmoil. Apprehensions are running high. CJP Secretary Teesta Setalvad spoke to Kashmiri Pandit Sangharsh Samiti (KPSS) leader Shri Sanjay Tickoo to find out more about the situation.

असम में छाए मानवीय संकट पर क्या बोले जमशेर अली? तीस्ता सेतलवाड़ की जमशेर अली के साथ ख़ास बातचीत

असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के कारण फैले मानवीय संकट पर तीस्ता सेतलवाड़ की जमशेर अली के साथ ख़ास बातचीत   Related Articles: Bengali Hindu labeled “Bangladeshi”, found dead in Assam Detention Camp How the National Register of Citizens causes ‘othering’ of minorities in Assam More confusion in Assam after NRC clarifies order on families…

GST a Looming Issue What GST has done to the Traditional Weavers in Karnataka

There has been a lot of debate in the media over the anomalies and imperfections of GST. Almost a year down the line, not many have paid attention to what GST has done to the grass root workers and small scale industries in different corners of the country. The weaving industry in the Bhagyanagar village…

NRC’s New Directive Stirs Controversy Ahead of the Final List Sign Our Petition NOW!

The National Register for Citizens (NRC), a record of ‘legitimate’ Indian citizens living in Assam, is being updated for the first time since 1951. Just one month away from publishing the final list of ‘legitimate’ citizens in Assam, the NRC director’s new directive brings in further confusions. As per the new directive the relatives of…

Shades of Saffron Politics of Polarisation in Coastal Karnataka

Mangalore has always stood for modernity, enterprise and a liberal way of life. But in the last three decades, post the Babri Masjid demolition, there has been continuous targeting on minorities by the right wing. Mangalore is one of the best examples of Sangh Parivar’s communal polarisation politics. They have made Dakshina Kannada a violent,…

Teesta Setalvad on CAA-NPR-NRC

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी पर हमला : कुछ सवाल क्या किसी लोकतांत्रिक देश में पुलिस का इस तरह से पक्षपाती होना उचित है?

पिछले कुछ दिनों से अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में जिन्नाह की तस्वीर को लेकर बवाल मचा हुआ है. ऐसा कहा जा रहा है की राष्ट्रवादियो और AMU के छात्रों के बीच टकराव हुआ – सच असल में क्या है, इस विडियो में देखिये   Related Articles: CJP Questions AMU Violence Struggle not for Jinnah but against…

CJP Questions AMU Violence Can the police be so blatantly biased?

After contradictory media reports and the available video evidence, CJP raises some questions regarding the violence that took place at the Aligarh Muslim University.   Related Articles: Struggle not for Jinnah but against Hindutva goons who created nuisance: AMU students CPI (ML) New Democracy blames BJP Government for fomenting communal strife in AMU Delhi Police…

भड़काऊ भाषणों में सबसे आगे कौन ? भड़काऊ भाषणों के खिलाफ हमारे अभियान से जुड़ें!

एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) और नेशनल इलेक्शन वॉच (NEW) द्वारा एक रिपोर्ट जारी की गयी है, जिसके मुताबिक़ लोकसभा और राज्य विधानसभा के कई सदस्यों पर भड़काऊ भाषण इस्तेमाल करने का आरोप लगा है – इसमें सबसे आगे भाजपा है.   भड़काऊ भाषणों के खिलाफ हमारे अभियान से जुड़ें: Understand what constitutes Hate Speech…

Hate Speech Rules the Day Join Our Campaign Against Hate Speech

A report released on April 25, 2018 by the Association of Democratic Reforms (ADR) and National Election Watch (NEW) says that the BJP leads the pack when it comes to members who have police complaints of hate speech filed against them. Join Our Campaign Against Hate Speech Understand what constitutes Hate Speech How Hate Builds  

How Kathua’s Horror Story Unfolded In this video CJP attempts to put together all facts of the incident

The brutal gangrape and murder of an eight year old girl in Jammu and brazen attempt to defend the perpetrators shocked everybody in India. The Crime Branch chargesheet says that it was an attempt to drive Muslim Bakarwals out of the area.   Related: Outrage spills outside Kathua and Unnao Implement FRA to empower Bakarwals…

How to Fight Communal Hate The signs that need to be recognized and combated

In this video address to Joint Action Committee for Social Justice, West Bengal, noted activist and human rights campaigner Teesta Setalvad lays out a fundamental framework for organisations fighting communal hate. What are the signs that need to be timely recognized and combated. She also takes a moment to salute the brave Asansol Imam whose…

Kodekkal Basava and the Lingayats Syncretic Traditions of India

Karnataka is a place where religious syncretism is a way of life. The shrine of Kodekkal Basava, in Karnataka’s Yadgir district, is one among hundreds of such worship places. Muslims and Hindus visit this shrine and celebrate festivals together. Kodekkal Basava is believed to be the reincarnation of 12th Century Basava, who fought against Brahmanism…

दलितों की दशा और देश की दिशा भीम आर्मी के विनय रतन से तीस्ता सेतलवाड की बातचीत

देश के कोने कोने में आज भी दलितों पर अत्याचार हो रहा है. उनकी आवाज़ को दबाए रखने की कोशिश में उनके नेताओं को जेल में कैद किया जा रहा है. उत्तर प्रदेश में युवा दलित नेता चंद्रशेखर आज़ाद उर्फ़ रावण को जून २०१७ में सहारनपुर में दंगे भड़काने के जुर्म में गिरफ़्तार किया गया…

Go to Top