Menu

Citizens for Justice and Peace

Videos

Spaces of Higher Education are the New Battlegrounds of Inequality: Abhay Xaxa Everyday struggles of Adivasis and their limited representation in Social Media

Adivasis or India’s indigenous people have faced centuries of oppression and exploitation. Today they fight a battle on many fronts. The first against a powerful nexus of industrialists, bureaucrats and the police who have made successive attempts made to usurp their forests, land and water resources. The second in institutes of higher learning against systemic exclusion…

Sabrimala Heroines Speak Out Bindu Ammini and Kanakadurga in conversation with Teesta Setalvad

The Sabarimala issue has yet again brought to the fore an age old conflict… one that is between a nation that belongs to all its people and a regressive, Brahminical thought. At such moments in history, the acts of courage of a few people bring about profound change. Bindu Ammini and Kanakadurga are two such…

Justice Chandrachud on Why the Constitution Matters Firebrand Supreme Court Justice denounces Mob Lynching and Criminalisation of Dissent

Supreme Court Justice D Y Chandrachud, who is best known for penning dissenting judgments in landmark cases like Aadhaar and the arrest of well-known human rights activists, (where he stated “Dissent is the Safety Valve of Democracy“), reaffirmed his fierce commitment to defending constitutional values and democratic principles, with an extraordinary speech in Mumbai. Speaking…

3 ways in which the Assam NRC Process is being Undermined CJP in Assam

There have been several hurdles caused by external and internal factors that are disrupting Assam’s NRC, which is already a complicated and sensitive process. Senior Journalist and activist Zamser Ali explains the most important 3 factors that are causing trouble in the smooth running of the NRC procedures.       Related: NRC Corrections Process:…

Facing the Threat of Imminent Arrest Dr Anand Teltumbde speaks to Teesta Setalvad

Following police raids at his home last year, well known author, activist and Dalit intellectual Dr Anand Teltumbde now faces the threat of imminent arrest. His name figures in the largely discredited ‘Bhima Koregaon’ case of the Pune Police which makes a link between the Elgar Parishad held in Pune on 31st December 2017, activities…

नब्बे प्रतिशत मीडिया सिर्फ दस प्रतिशत लोगों को कवरेज दे रहा है: आरफा खानम Netizens for Democracy

आरफा खानम उन चंद पत्रकारों  में से एक हैं जो खुल कर हिंदुत्ववादी राजनीती का विरोध करतीं है, जो मोदीराज में भी सच्ची पत्रकारिता पर विश्वास रखतीं है।  इसके फ़लस्वरूप उन्हें organized trolling का निशाना बनाया जाता है।  एक अल्पसंख्यक समुदाय की महिला होने की वजह से भी हर कदम पर उन्हें कई कठिनाओं का…

सामाजिक द्वेष से लड़ने के लिए आपस में बातचीत करना ज़रूरी है: दुर्गेश पाठक Netizens for Democracy

अपने सांगठनिक कौशल के लिए चर्चा में रहने वाले आम आदमी पार्टी के दुर्गेश पाठक से CJP ने की यह ख़ास बातचीत। इस बातचीत में दुर्गेश फेक न्यूज़ और मोदीराज में फैले सामाजिक द्वेष से कैसे लड़े इसपर अपना मत रख रहे है। दुर्गेश कहते हैं की हमें आपस में बातचीत करने की ज़रुरत है…

पत्रकार नफरत का ज़रिया न बने: अभिसार शर्मा Netizens For Democracy

जाने माने पत्रकार अभिसार शर्मा अपनी खरी बोली के लिए जाने जाते है। जहाँ मोदीराज में सच बोलना ही गुनाह है, वहां अपना फ़र्ज़ निभाने के लिए अभिसार को एक नौकरी गवानी पड़ी। इस ख़ास बात चीत में पहली बार अभिसार खुल के बताते है की कैसे IB उनका पीछा करती है, कैसे पत्रकार खुद…

गांधीजी को किसने मारा और क्यों ? आज़ाद हिंदुस्तान का पहला आंतकवादी हमला

क्या आपको मालूम है की गाँधीजी को मारने की पांच विफल कोशिशों के बाद , छठा सफल हुआ। उन्हें मारने की पहली कोशिश 1934 में हुई थी। तो कौन था जिसे गांधीजी से इतने गिले शिक़वे थे ? किसकी संकीर्ण, खूनी विचारधारा में गांधीजी जैसे महानुभाव की कोई जगह नहीं थी। और वो कौन है…

Justice Thipsay on the Indian judiciary, Justice Loya and Sohrabuddin Netizens for Democracy

Retired Judge of Bombay High Court, Justice Abhay Thipsay, renowned for his exceptional judgments that have always favored the powerless, speaks to CJP on the sidelines of the Netizens for Democracy event. Among other things, he touches upon the mysterious death of Justice Loya and the travesty of justice that was the Sohrabuddin case.  …

All About the Hate Hatao App Hate Hatao Desh Bachao!

Citizens for Justice and Peace launches a simple yet revolutionary app to help fight hate. In this video CJP secretary Teesta Setalvad explains what the app does and how to recognize signs of trouble and hence how to prevent petty prejudices escalating into large scale violence.     Related: Hate Hatao: CJP’s New App to…

हेट हटाओ, देश बचाओ: जानिए इस App के बारे में CJP पेश करती है एक क्रांतिकारी App

सालों से नफ़रत और हिंसा का मुकाबला कर रही CJP पेश करती है एक क्रांतिकारी नया APP – हेट हटाओ। बढ़ती साम्प्रदायिक हिंसा और घृणा के बिगड़ते माहौल में हेट हटाओ ऐप से आप उपयुक्त सबूतों जैसे कि, स्क्रीनशॉट, वीडियो या एक तस्वीर के ज़रिए अभद्र भाषा, धमकी और हेट स्पीच से जुड़े अपराधों को…

ख़ामोश रहना सबसे बड़ा गुनाह है : तीस्ता सेतलवाड़ नफ़रत के खिलाफ़

12 जनवरी 2019 की शाम मुम्बई के सीएसटी इलाके में ‘नफ़रत के ख़िलाफ़ हम सभी की आवाज़’ इस नाम से एक कार्यक्रम का आयोजन इया गया. कार्यक्रम का उद्देश्य इस विषय पर चर्चा करना था कि भारत का धार्मिक अल्पसंख्यक वर्ग इस कदर असुरक्षित क्यों है कि वो कभी देश की राजधानी के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय…

जुनैद की अम्मी ने कहा, चुप बैठे लोगों पर भी विपत्ति आ सकती है इसलिए आवाज़ उठाना ज़रूरी है नफ़रत के खिलाफ़

16 वर्षीय जुनैद खान, जून महीने में हरियाणा से दिल्ली, ईद की खरीददारी करने आया था, वापस लौटते वक्त ट्रेन में सीट को लेकर शुरू हुए विवाद के बाद भीड़ द्वारा पीट-पीट कर  उसकी ह्त्या कर दी गई और फरीदाबाद के असोटी स्टेशन के पास उसे ट्रेन से बाहर फ़ेंक दिया गया था. 12 जनवरी…

नजीब की अम्मी फ़ातिमा ने कहा “मोदी मुझसे आँख मिला कर बात करें” नफ़रत के खिलाफ़

‘नफ़रत के ख़िलाफ़ हम सभी की आवाज़’ मुम्बई में आयोजित इस कार्यक्रम में शामिल होकर नजीब की अम्मी ने अपनी आपबीती दुनिया को बताई. नजीब, जेएनयू में, एमएससी बायोटेक्नॉलॉजी में प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रहा था, वो 15 अक्टूबर 2016 से लापता है. फ़ातिमा ने अपना दर्द तो दूसरों के साथ बांटा ही, उन्होंने नई पीढ़ी के युवाओं और उनके अभिभावकों को ये सन्देश भी…

CJP condemns attempts to stifle Democratic Voices in Assam Sedition charges against Dr. Hiren Gohain are ridiculous!

As protests erupt all across India’s North East over the Citizenship Amendment Bill, an attempt is being made to stifle democratic voices like that of eminent intellectual Dr Hiren Gohain. As one of Assam’s tallest intellectuals who represents the pulse of the state, it is rather ridiculous to accuse him for sedition. Citizens for Justice…

BREAKING: Dr. Hiren Gohain reacts to Sedition case against him Assamese intellectual had opposed Citizenship Amendment Bill

Reacting to the sedition charges against him, Dr Hiren Gohain makes it clear that whatever he has being saying against the citizenship amendment bill , has been in favor of secularism and hence in favor of a democratic India. In fact, it seems that the sedition case against him is just a pressure tactic by…

आखिर राम मंदिर मुद्दा है क्या ? सुनिए अयोध्या की कहानी ,तीस्ता सेतलवाड़ की ज़ुबानी

सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर मंदिर मामले पर सुनवाई के लिए एक Constitutional Bench का गठन किया है। पर आखिरकार राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद अयोध्या मुद्दा है क्या ? सुनिए अयोध्या की कहानी , तीस्ता सेतलवाड़ की ज़ुबानी.   और पढ़िए – अयोध्या में शांति के लिए एक विनम्र अनुरोध “खेत अधिग्रहित हो गया, मुआवज़ा…

I condemn the Citizenship Amendment Bill: Dr Hiren Gohain Assamese intellectual opposes religious discrimination at the heart of the bill

The central government’s move to grant citizenship to non-Muslims from India’s neighbouring countries has faced enormous opposition in the North East. According to several of those who oppose the bill, it is in direct contravention of the Assam Accord. Here, Assam’s tallest intellectual Dr Hiren Gohain speaks out for secularism and against the Citizenship Amendment…

Go to Top