Menu

Citizens for Justice and Peace

Supreme Court

Lack of Witnesses in Sohrabuddin case

‘मामला’ क्या है? तीस्ता सेतलवाड़ पर मुक़दमों की झड़ी का ख़ुलासा

गुजरात दंगो में साज़िश की जांच के लिए ज़किया जाफ़री और तीस्ता सेतलवाड़ की अर्ज़ी जैसे ही सुप्रीम कोर्ट में पहुंची, गुजरात के विभिन्न न्यायालयों में तीस्ता सेतलवाड़ के खिलाफ चल रहे मामले उफान मारने लगे। लेकिन ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। किडनैपिंग से लेकर जालसाज़ी तक हर तरह के केस झेल चुकी…

SC grants more time to file NRC Claims in Assam More than 2.5 million people yet to file claims!

In a welcome breather for Indian citizens in Assam, the Supreme Court has granted a deadline extension for filing applications under the Claims and Objections process. The Supreme Court had previously set December 15 as the deadline, but now it has extended it to December 31, 2018. The SC bench comprising Chief Justice Ranjan Gogoi…

तीस्ता सेतलवाड़ पर मुक़दमों की झड़ी का ख़ुलासा Coming Soon

आखिर सरकार तीस्ता सेतलवाड़ पर इतनी मेहरबान क्यों है? क्यों करती रहती है मुक़दमों की पुष्प-वर्षा? हर अड़चनों को फलांद कर ज़किया जाफ़री के साथ तीस्ता सेतलवाड़ का सुप्रीम कोर्ट तक का सफर, केवल उड़ती ख़बर पर

हमें न्याय की उम्मीद है: दुरैया जाफरी तीस्ता सीतलवाड़ के साथ बातचीत में

ज़किया जाफरी केस की अगली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में 26 नवम्बर को होगी। इस सिलसिले में तीस्ता सीतलवाड़ से बात करते हुए ज़किया जाफरी की बहू दुरैया जाफरी ने कहा के सुप्रीम कोर्ट से न्याय मिलने की उम्मीद में उन्होंने सूरत से दिल्ली तक का सफर तय किया है। उन्होंने दावा किया के कोर्ट ने…

What is the Zakia Jafri Case? A timeline of events and CJP's intervention

Often confused with the Gulberg Society case, the Zakia Jafri case is a unique litigation that aims to bring to justice some of the most powerful perpetrators and masterminds behind the Gujarat 2002 anti-minorities violence. Watch this video to know more.       Related: Zakia Jafri Case: Bringing the High and Mighty to Justice…

Saffron Conspiracy in Bhima Koregaon

असम के डिटेंशन कैम्प में बंद महिला के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दिया रिहाई का आदेश सोफ़िया ख़ातून के मामले ने कई व्यवस्थागत कमियों को किया है उजागर

असम में कोकराझार डिटेन्शन कैम्प में बंद सोफ़िया ख़ातून के लिए एक बड़ी राहत की ख़बर है. सुप्रीम कोर्ट ने अब उन्हें व्यक्तिगत रिलीज बॉन्ड (PR बॉन्ड) पर रिहा करने का आदेश दिया है. सन 2016 में बारपेटा फ़ॉरेनार्स ट्रिब्यूनल द्वारा विदेशी घोषित कर दिए जाने के बाद से ही इन्हें डिटेन्शन कैम्प में डाल दिया गया…

Attempt to undo Gautam Navlakha’s Freedom, Sudha Bharadwaj still not free Activists still struggling for their freedom

In a diabolical bid to curtail Gautam Navlakha’s freedom after the Delhi High Court order set aside his transit remand and set him free from house arrest, the state of Maharashtra has filed a Special Leave Petition (SLP) against the HC order. Meanwhile, Sudha Bhardwaj’s Habeas Corpus petition was withdrawn in order to seek relief from the lower court.…

Delhi HC sets aside Transit Remand, Gautam Navlakha walks free Activist arrested by Pune Police, released from House Arrest

After the Supreme Court extended the house arrest of five activists arrested for their alleged involvement in instigating the Bhima Koregaon violence, and granted them four weeks to seek relief from lower courts, the Delhi High Court has set aside activist Gautam Navlakha’s transit remand. He was also released from house arrest shortly after the…

Go to Top