Menu

Citizens for Justice and Peace

Supreme Court

Justice Chandrachud on Why the Constitution Matters Firebrand Supreme Court Justice denounces Mob Lynching and Criminalisation of Dissent

Supreme Court Justice D Y Chandrachud, who is best known for penning dissenting judgments in landmark cases like Aadhaar and the arrest of well-known human rights activists, (where he stated “Dissent is the Safety Valve of Democracy“), reaffirmed his fierce commitment to defending constitutional values and democratic principles, with an extraordinary speech in Mumbai. Speaking…

असम में चुनावों के दौरान NRC कार्य के स्थगन की राज्य की याचिका सुप्रीमकोर्ट ने की ख़ारिज कहा NRC प्रक्रिया समान रूप से महत्वपूर्ण है, नजरअंदाज नहीं किया जा सकता

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटिज़न्स (NRC) से संबंधित कार्य को निलंबित करने की राज्य की याचिका को नामंजूर कर दिया है. याचिका में राज्य की तरफ़ से कहा गया था कि NRC में नाम दर्ज कराने के कार्यों को आम चुनावों तक रोक दिया जाए ताकि उस कार्य में लगे लोगों को…

Gauri Lankesh Murder: Sister Kavita demands case stay with Karnataka SIT Files Intervention Application to prevent investigation to be transferred to another agency

Ms Kavitha Lankesh, sister of slain journalist activist Gauri Lankesh has intervened in the Supreme Court urging that the investigation into her sister’s murder should remain with the Special Investigation Team (SIT) appointed in 2017. The investigations in the case are at an advanced stage and arguments on framing of charge were to be made…

Fear of violence not unfounded: SC on BJP’s Rath Yatra Apex court directs party to seek fresh approval from WB government

In a major setback to the BJP, the Supreme Court of India has directed the party to seek fresh approval for a ‘rath yatra’ from the state government of West Bengal saying that the WB government’s concerns weren’t “unfounded”. The court, however asked the state government to allow BJP rallies and meetings in the state. BJP…

Judgments and Orders that Empowered Citizens in 2018 Decisions by Indian courts that helped strengthen Human Rights

2018 was an important year in the courts for several key human rights issues. Here is the annual round up of 12 such judgments that helped deliver justice and set right several historical wrongs. SC respects Hadiya’s choice On March 8, 2018, the Supreme Court set aside a Kerala High Court judgment that had annulled…

‘मामला’ क्या है? तीस्ता सेतलवाड़ पर मुक़दमों की झड़ी का ख़ुलासा

गुजरात दंगो में साज़िश की जांच के लिए ज़किया जाफ़री और तीस्ता सेतलवाड़ की अर्ज़ी जैसे ही सुप्रीम कोर्ट में पहुंची, गुजरात के विभिन्न न्यायालयों में तीस्ता सेतलवाड़ के खिलाफ चल रहे मामले उफान मारने लगे। लेकिन ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। किडनैपिंग से लेकर जालसाज़ी तक हर तरह के केस झेल चुकी…

SC grants more time to file NRC Claims in Assam More than 2.5 million people yet to file claims!

In a welcome breather for Indian citizens in Assam, the Supreme Court has granted a deadline extension for filing applications under the Claims and Objections process. The Supreme Court had previously set December 15 as the deadline, but now it has extended it to December 31, 2018. The SC bench comprising Chief Justice Ranjan Gogoi…

तीस्ता सेतलवाड़ पर मुक़दमों की झड़ी का ख़ुलासा Coming Soon

आखिर सरकार तीस्ता सेतलवाड़ पर इतनी मेहरबान क्यों है? क्यों करती रहती है मुक़दमों की पुष्प-वर्षा? हर अड़चनों को फलांद कर ज़किया जाफ़री के साथ तीस्ता सेतलवाड़ का सुप्रीम कोर्ट तक का सफर, केवल उड़ती ख़बर पर

हमें न्याय की उम्मीद है: दुरैया जाफरी तीस्ता सीतलवाड़ के साथ बातचीत में

ज़किया जाफरी केस की अगली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में 26 नवम्बर को होगी। इस सिलसिले में तीस्ता सीतलवाड़ से बात करते हुए ज़किया जाफरी की बहू दुरैया जाफरी ने कहा के सुप्रीम कोर्ट से न्याय मिलने की उम्मीद में उन्होंने सूरत से दिल्ली तक का सफर तय किया है। उन्होंने दावा किया के कोर्ट ने…

Go to Top