Menu

Citizens for Justice and Peace

Farmers

Mumbai With Farmers

Thousands in Mumbai march in solidarity with Indian Famers CJP is proud to stand by the farmers of India

Several organisations and civil society groups came together under the banner of ‘Kisan Alliance Morcha’ in support of the farmers’ agitation against the new farm laws in Mumbai, questioning the need for the new Farm Laws. Related: Hundreds Of Adivasi Activists Gather To Protest Against Farm Laws

farmers march

आइये ‘किसान गठबंधन मोर्चा’ की रैली में भाग लेकर किसानों की आवाज़ बनें! Hear what Naseeruddin Shah and Teesta Setalvad have to say

मशहूर अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के साथ पत्रकार-एक्टिविस्ट तीस्ता सेतलवाड़ समझा रही हैं कि, आज भारत के किसानों के साथ, कृषि विरोधी कानूनों के खिलाफ़ संघर्ष में हमें उनका साथ देना क्यों ज़रूरी है. 16 जनवरी 2020 को किसान गठबंधन मोर्चा में शामिल होकर, देश के किसानों की आवाज़ बने. स्थान: इस्लाम जिमखाना से आज़ाद मैदान तक समय: दोपहर 2 बजे।…

Why is a private member Bill of 2018 relevant to the farmers today? It seeks guaranteed remunerative MSP, regulated costs, grievance mechanism and compensation

Swabhimani Shetkari Sanghatana (SSS) chief and former Member of Parliament Raju Shetti has said that the farmers and the Union can reach a consensus only if the Prime Minister guarantees a Minimum Support Price (MSP) for farmers to cushion them from unexpected calamities and volatile market changes. SSS is one of the prominent unions under…

farm bills and FRA conversation

फार्म बिल का विरोध और वन अधिकार: एक वार्तालाप कृषि कानून, उसका विरोध और वन अधिकार

CJP सचिव तीस्ता सेतलवाड़ ने AIUFWP के महासचिव अशोक चौधरी, उप सचिव रोमा मलिक, AIUFWP नेताओं और फार्म बिल पर वन निवासियों के साथ एक लंबी एवं विस्तृत बातचीत की, जिसमे विरोध प्रदर्शन और वन अधिकारों और उनकी ऐतिहासिक प्रासंगिकता के सम्बन्ध में चर्चा हुई. Related: AIUFWP और वन आश्रित समुदाय ने किसान विरोधी कानून…

Distressed Farmers throng Delhi streets

Photo Feature: Distressed Farmers throng Delhi streets Manage to get audience with key opposition leaders

In a last ditch effort to make their voices heard, lakhs of Indian farmers have landed up in New Delhi to highlight the impact of anti-farmer agrarian policies of the government on their lives. The Kisan Mukti Morcha organised by the All India Kisan Sangharsh Coordination Committee, an umbrella organisation over over 200 farmers welfare…

MSP: किसानों की जीत या एक और जुमला? CJP ने अशोक धवले से बातचीत की

मोदी सरकार ने हाल ही में किसानो को दिए जाने वाले MSP में इज़ाफा किया है. कुछ अख़बार और ऑनलाइन न्यूज़ एजेंसीज इसे ‘ऐतिहासिक’ बता रहे हैं. पर आखिर सच्चाई क्या है? क्या ये MSP, स्वमिनाथन कमिटी सिफारिशों के अनुरुप है? क्या किसानों तक यह MSP पहुचाने का सरकार के पास कोई ज़रिया है?  इस…

New MSP for Kharif crops

New MSP for Kharif crops: Historic or Histrionics? Govt. can't stop patting its own back for benefits it never provided

On July 4, 2018, the cabinet approved a hike in the Minimum Support Price (MSP) for Kharif crops, triggering an unabashed display of self congratulations and sycophancy on social media. But given how the MSP hike without any guarantee of procurement is a meaningless publicity stunt, one wonders if the move is just a means to…

New MSP for Kharif crops

भारत में किसानों, कृषि श्रमिकों और वन श्रमिकों के अधिकार सामुदायिक संसाधन

भारत की अर्थव्यवस्था हमेशा से देश भर में फैली नदियों के संजाल और उपजाऊ मिट्टी की प्रचुरता के कारण मुख्य रूप से कृषि प्रधान रही है. पंजाब में गेहूं के स्वर्णिम मैदानों से, गंगा और इसकी सहायक नदियों के बाढ़ के मैदानों में मक्का, बाजरा और दालों के जलोढ़ लहलहाते विशाल कृषि क्षेत्र तक, दार्जिलिंग…

गौरक्षकों की गुंडागर्दी का किसानो पर क्या असर हो रहा है? अर्थव्यवस्था हुई अस्तव्यस्त

गौरक्षा के नाम पर हिंदुत्व गुंडों की मनमानी का असर सिर्फ मुसलमानों और दलितों तक सिमित नहीं है – इसका असर अब भारत के गांव-कूचों में सदियों से चली आ रही अर्थव्यवस्था पर भी दिखाई दे रहा है. विडियो में किसान सभा के वरिष्ठ नेता और केरल के पूर्व विधायक पी कृष्णप्रसाद इस विषय पर…

मुंबई के बाद लखनऊ में किसानों का आक्रोश देश भर के किसानो में फैल रही है सरकार के खिलाफ़ नाराज़गी

नासिक से मुंबई long march ऐतिहासिक रैली के बाद, देश के कोने कोने में किसान आक्रोश फैल रहा है. लखनऊ के विशाल किसान प्रतिरोध रैली मे AIKS के नेताओं ने और किसानों ने सरकार को चेतावनी दी है कि उनकी मांगे मानी जायें वरना आन्दोलन नहीं रुकेगा.   Related: आत्महत्या नहीं संघर्ष करेंगे

Go to Top