कैमूर फायरिंग: फैक्ट-फाइंडिंग रिपोर्ट जारी हुई आदिवासियों पर गोली चलाने पर न्यायिक जांच की मांग, दोषी अधिकारियों पर मुकदमा चलाया जाए और झूठे केस रद्द किए जाएँ

26, Oct 2020 | CJP Team

23 अक्टूबर को, सीपीआई (एम) की पोलित ब्यूरो सदस्य और आदिवासी अधिकार राष्ट्रीय मंच की उपाध्यक्ष, बृंदा करात ने, कैमूर में बिहार पुलिस द्वारा आदिवासियों पर गोलीबारी पर एक फैक्ट-फाइंडिंग रिपोर्ट जारी की। 11 सितंबर को जब स्थानीय आदिवासी अधौरा में शांतिपूर्ण धरना दे रहे थे, तब गोलीबारी की गई थी।

ऑल इंडिया यूनियन ऑफ फॉरेस्ट वर्किंग पीपल (AIUFWP), सिटिज़न्स फॉर जस्टिस एंड पीस (CJP) और दिल्ली सॉलिडैरिटी ग्रूप (DSG) द्वारा सह-प्रकाशित यह रिपोर्ट उस दिन के घटनाक्रम का विस्तृत वर्णन है।

पूरी रिपोर्ट`यहां पढ़ी जा सकती है:

 

पूरी प्रेस विज्ञप्ति यहां पढ़ी जा सकती है:

 

सम्बंधित-

जल, जंगल, जमीन हमारा था, है और हमारा ही रहेगा – राम सूरत सिंह

खाद्य संप्रभुता बचेगी तभी होगा भारत आत्मनिर्भर

वनाधिकार कानून की बात करनी है तो गोली खाने को रहे तैयार!

 

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Go to Top