Menu

Citizens for Justice and Peace

women's movement

भंवरी देवी जैसी निडर महिलाओं के संघर्ष की बदौलत ही हम #MeToo तक पहुच पाए हैं मानवाधिकार रक्षक का परिचय

1995 में भंवरी देवी बलात्कार के मामले में चार आरोपियों को बरी करते हुए जयपुर जिला और सत्र अदालत ने कहा था “भारतीय संस्कृति अभी इस हद तक नहीं गिरी है कि गांव का एक भोलाभाला आदमी लोक–लाज की सभी मर्यादाओं को भूलकर, किसी वहशी भेड़िए की तरह औरत पर झपट पड़ने को लालायित हो जाए.”…

Go to Top