Menu

Citizens for Justice and Peace

NHRC

16 PAC Personnel Guilty of Targeted Murder Delhi HC in Hashimpura Custodial Killings, 1987

October 31 was a historic day in the history of painfully meandering case of the Hashimpura targeted killings of May 22, 1987. Thirty-one years after armed PAC men shot down in cold blood more than 40 males of the Muslim minority, 16 criminal PAC men have been convicted. On May 21, 2015 a trial court…

Teesta Setalvad and Roma talk to Adivasi Human Rights Activists and Forest Dwellers in Sonbhadra, UP, India

इससे न सत्य मिलेगा न ही न्याय : NHRC की अपर्याप्त जांच पर AIUFWP सचिव रोमा की प्रतिक्रिया मई महीने में सीजेपी और AIUFWP द्वारा की गई साझी शिकायत पर NHRC का जवाब

ऑल इंडिया यूनियन ऑफ फ़ॉरेस्ट वर्किंग पीपल (AIUFWP) की सदस्य रोमा ने 20 जून 2018 को सीजेपी की सचिव तीस्ता सेतलवाड़ के साथ संयुक्त रूप से एक शिकायत दर्ज कराई थी. इस शिकायत के सम्बन्ध में 20 सितंबर 2018 को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) से एक जवाब प्राप्त हुआ. ये शिकायत, उत्तर प्रदेश (यूपी) के सोनभद्र के लिलासी गांव में पुलिस द्वारा बरती…

Roma Malik

NHRC sets up LGBTI Core Group, ropes in activist Harish Iyer 15 member group to advise the commission on harmonising existing laws with needs of the community

Equal Rights activist Harish Iyer has been appointed to the National Human Rights Commission’s (NHRC) Core Group on Lesbian Gay Bisexual Transgender Intersex (LGBTI) issues. This is the first group set up exclusively to look into the concerns and challenges of India’s vibrant rainbow community and marks a step towards greater understanding and acceptance of…

बंद कीजिये शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर पुलिस का अत्याचार CJP का NHRC को ज्ञापन, उचित कार्यवाही करने की मांग

हमारा संविधान हमें अपने अधिकारों की मांग करने और अपने अधिकारों की रक्षा करने के लिए शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन का अधिकार देता है. भारतीय संविधान के अनुच्छेद19 में इसका स्पष्ट उल्लेख है. लेकिन हमारी पुलिस का व्यवहार इसके बिलकुल उलट नज़र आता है. पुलिस द्वारा की जा रही इन असंवैधानिक गतिविधियों की गंभीरता को समझते…

CJP Demands Police Reform Submits memorandum to NHRC

Citizens for Justice and Peace moved National Human Rights Commission (NHRC) demanding guidelines on how the Police behaves with peaceful protestors. The right to protest peacefully, enshrined in Article 19 of the Indian Constitution, is being eroded across the country. In many instances, the police are cracking down on those demanding action or raising awareness…

Stop Police Excesses on Peaceful Protesters CJP approaches NHRC demanding action against unrestrained police behaviour

It appears that the right to protest peacefully, enshrined in Article 19 of the Indian Constitution, is being eroded across the country. In many instances, the police are cracking down on those demanding action or raising awareness about legitimate issues. We have decided to act against this heavy-handed approach of the police by way of…

Sonbhadra Adivasis

Allahabad HC demands explanation for detention of Adivasi activists after CJP and AIUFWP file petition We are keeping #JungJaari to #FreeSukaloKismatiya

On June 8, 2018 Adivasi Human Rights Defenders Sukalo Gond (Treasurer of AIUFWP) and Kismatiya Gond (Secretary, Forest Rights Committee) were picked up in a clandestine manner from Chopan station, Sonebhadra, UP just as they were returning after a meeting with the state forest minister, Dara Singh Chauhan and Forest Secretary in Lucknow. Their names were not mentioned in any…

Sonbhadra Adivasis

सोनभद्र UP में मानवाधिकार रक्षक गिरफ्तार, NHRC ने किया हस्तक्षेप, कारवाई का दिया आश्वासन AIUFWP नेता रोमा और अन्य लोगों ने CJP के नेतृत्व में NHRC रजिस्ट्रार से बात की, उन्हें अवैध गिरफ्तारियों का ब्यौरा सौंपा

नेशनल ह्यूमन राइट्स कमीशन (NHRC) ने मामले में हस्तक्षेप करते हुए सोनभद्र के पुलिस अधीक्षक और ज़िला न्यायधीश से 6 जून को सोनभद्र में हुई आदिवासी महिलाओं और पुरुषों की अवैध हिरासत और उसपर हुई कारवाई के बारे में पूछा. हिरासत में लिए गए सभी लोग ऑल इंडिया यूनियन ऑफ़ फारेस्ट वर्किंग पीपल्स (AIUFWP) के साथ…

कासगंज का सच CJP ने की राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग से तथ्य ढूँढने की फ़रियाद

क्या है कासगंज के दंगे से पहले रची गई साजिश से लेकर दंगे के बाद तक की सच्चाई, जिसे छुपाने का षड्यंत्र रचा जा रहा है? CJP ने राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग से फ़रियाद की है कि फेसबुक पोस्ट और विडियो की फॉरेंसिक जांच हो ताकि तथ्य सामने आयें, और कासगंज दंगाइयों को सजा मिले…

Go to Top