Menu

Citizens for Justice and Peace

feminism

SC: Women of all ages can enter Sabrimala Landmark feminist verdict ends Kerala shrine's age old ban on entry of women

In a resounding slap in the face of patriarchy and gender based discrimination, the Supreme Court has put an end to the age old practice of barring entry of women of a menstruating age into the Sabrimala temple. In a landmark judgment, the apex court ruled that women of all age-groups could enter the temple. In…

Intersectional Feminism What it means, how it works, and why you should practice it

Consider the various aspects of your identity: your job, your marital status, your favourite food or book or colour. More importantly, consider the most basic aspects that identify you: your gender, your sexuality, your caste, your religion, you choose to embrace one. In this context, it is vital to question which parts of your identity afford…

कुछ अनोखे प्रेम पत्र सावित्री बाई और ज्योतिबा फुले के प्रेम एवं सामाजिक चेतना के प्रतीक

सावित्रीबाई फुले यकीनन भारत की पहली महिला शिक्षिका और मुक्तिदाता थीं जिन्हें इतिहास ने लगभग भुला दिया है, 176 साल पहले 1831 में उनका जन्म हुआ और 3 जनवरी उनका जन्मदिन है, विभिन्न जातियों की लड़कियों के लिए पहले विद्यालय की स्थापना भाईडेवाड़ा, पुणे (ब्राह्मणों का गढ़) में करने वाली, क्रांतिज्योति सावित्रीबाई, अनेक रूप से…

इस नए साल का डर से नहीं हिम्मत से स्वागत करें महिलाएं नए साल की पूर्व संध्या पर यौन उत्पीड़न या हमले के शिकार होने वाली महिलाओं के लिए आसान प्रावधान

नए साल की शाम अक्सर भारत में महिलाओं के लिए बुरी यादें छोड़ जाती है. हालांकि 2016 में बेंगलुरु में महिलाओं से हुई सामूहिक छेड़छाड़ अभी भी हमारी याददाश्त में ताजा है, मुंबई, जो शहर अपने अपेक्षाकृत सुरक्षित माहौल के लिए जाना जाता है, वहां भी ऐसी घटनाएं हुई थी. भारत में यौन उत्पीड़न और बलात्कार के…

जल, जंगल और ज़मीन के लिए शांतिपूर्ण संघर्ष सोनभद्र के आदिवासी और उनकी न्याय व अस्मिता की लड़ाई

2017 के सितम्बर महीने में, सम्मानित मानवाधिकार कार्यकर्ता, पत्रकार और शिक्षाविद् तीस्ता सेतलवाड़, न्यायमूर्ति पी.बी. सावंत और न्यायमूर्ति कोल्से पाटिल ने, उत्तर प्रदेश (यूपी) जिला सोनभद्र जिले के लोदी गांव के जिलाधिकारी श्री प्रमोद कुमार उपाध्याय को एक पत्र लिखा था जिसमें आग्रह किया गया था कि पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों को प्रशासन…

Dalit Women, Justice, Rights: Finding a Voice An Excerpt from a lecture by Dr. Ruth Manorama

“My final words of advice to you are Educate, Agitate and Organize; have faith in yourself. With justice on our side I do not see how we can loose our battle. The battle to me is a matter of joy.  The battle is in the fullest sense spiritual. There is nothing material or social in…

Punjabi_woman_in_kitchen

Feminism and the Rights of the Indian Homemaker Within the Home, Her Rights are a Work in Progress

Feminism has had its own journey across the Indian subcontinent and touched different women differently. In this exclusive blog, author Kiran Manral examines the evolution of feminism and its impact on the Indian homemaker.   The feminist movement, a movement for the equality of genders in all aspects, is not new to India. In fact,…

Go to Top