Menu

Citizens for Justice and Peace

भारत में कितने लोगों का जन्म पंजीकरण हुआ है : मिहिर देसाई Human Rights Lawyer raises crucial questions on CAA and NRC

11, Jan 2020 | CJPIndia

उच्च न्यायालय के वरिष्ठ वकील मिहिर देसाई से जानिए कि आखिर CAA और NRC असंवैधानिक क्यों है|

Related:

नागरिकता पर क्या बोले कन्नन गोपीनाथन

India’s poorest citizens will bear the brunt of NPR-NRC

Why the CAA must be opposed, because it discriminates

UP पुलिस के दमन का आँखों देखा हाल

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Sign up for petition
Go to Top