कोविड-19: जरूरतमंदों को गैर-चिकित्सा राहत प्रदान करने वाले वॉलंटियर्स के लिए दिशा-निर्देश अपनी खुद की सुरक्षा और दूसरों को आश्वस्त करने के लिए नीचे दिए गए दिशानिर्देशों का पालन करना अनिवार्य है

30, Mar 2020 | CJP Team

कोरोना संकट से पूरे भारत में बहुत सारे लोगों के लिए ज़रूरी सामान की किल्लत हो गई है. जबकि चिकित्सा, राहत और पुनर्वास जारी है, परन्तु ज़मीनी सतह पर हाशिये पर रह रहे गरीब समुदायों में इस महामारी की जानकारी फैलाना और इस मुसीबत को पार करने लायक सहायता करना आवश्यक है. यदि आप ज़रूरतमंद लोगों की मदद करना चाहते हैं या किसी मदद करने वाले संगठन से जुड़े हैं, तो निम्नलिखित दिशानिर्देशों का पालन करना आवश्यक है, ताकि ऐसे समय में आप स्वयं सुरक्षित रहें और दूसरों को भी बचाएं।

राहत कार्य में तभी निकलिए जब आपकी आयु ६० वर्ष  से कम हो और आपको किसी भी तरह की बीमारी न हो जिससे आपकी रोग प्रतिरोध की क्षमता बाधित हुई हो।

राहत कार्य करते समय मास्क और ग्लव्स (दस्ताने) पहनना ज़रूरी है।

दस्ताने पहनने के बावजूद अपने हाथ को अपनी आँख, नाक, मुँह से दूर रखिए।

आपस में और जरूरतमंदों से ६ फ़ीट की न्यूनतम दूरी रखें।

किसी से भी हाथ ना मिलाएं, या गले ना मिलें।

बड़ी संख्या में एकत्रित न हो। दो-दो की टोली में काम करें।

किसी भी चीज़ को बिना ज़रूरत के ना छुएँ।

पास में हैंड सैनीटाईज़र ज़रूर रखे। सैनीटाईज़र में अल्कोहल की मात्रा देख लें, यह ६०% से ज़्यादा होनी चाहिए। साबुन के पानी से लगातार बीस सेकेण्ड तक हाथ रगड़ के धोएं और अक्सर धोएं।

बाहर से घर में आने पर कपड़े, चाबी, समान इत्यादि का निःसंक्रमण करें। मास्क और ग्लव्स (दस्ताने) सावधानी से कचरे में फेंकें। इनसे संक्रमण फैल सकता है। निःसंक्रमण के लिए साबुन- डिटर्जेंट (कपड़ों, धातु की वस्तुओं के लिए ) ब्लीच-पानी (सतहों के लिये) और सैनीटाईज़र (फ़ोन इत्यादि के लिए) उपयोगी है।

करोना संक्रमण के आम लक्षणों से वाक़िफ़ रहें। अगर आपको ज़्यादा साँस फूलना, तेज बुख़ार, सूखी खांसी हो तो तुरंत खुद को अपने परिवार से दूर रखें और डॉक्टर से सम्पर्क करें।

क्वारंटीन (संगरोध ) एवं आईसोलेशन (अलगाव) का भय मानसिक तनाव पैदा कर सकता है। यदि आपको ऐसा लग रहा हो तो उचित विशेषज्ञों की सहायता लें।

जरूरतमंदों के साथ काम करना भी तनावपूर्ण हो सकता है। इसलिए अपना भी ख़्याल रखें और पर्याप्त विश्राम करें।

Related:

(Feature Image – Chaitanya Bharat News)

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Go to Top