असम में NRC की वजह से एक और आत्महत्या निरोद बरन दास २९वे शिकार हुए है

22, Oct 2018 | CJP Team

खारुपेटिआ गांव के जानेमाने बुद्धिजीवी, अध्यापक और वकील निरोद बरन दास ने आत्महत्या कर ली है. ऐसा माना जा रहा है की NRC के कारण नागरिकता छिन जाने के डर ने अब तक 28 लोगों की जान ली है. निरोद बरन दास २९वे शिकार हुए है. NRC प्रकरण में हो रही कुछ गलतिओं की वजह से असम के कई जिलों में डर का माहौल बना हुआ है. लगभग ४० लाख लोग NRC से बाहर है और एक अभूतपूर्व संकट असम पर छाया हुआ है.

 

 

 

और पढ़िए –

असम के डिटेंशन कैम्प में बंद महिला के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दिया रिहाई का आदेश

चौथी बार अपनी नागरिकता साबित करने को मजबूर हैं असम के शमसुल हक़

मैं रोती और गिड़गिड़ाती रही, मगर पुलिस वाले मुझे घसीट ले गये 

चाय वाले की माँ

NRC दावा-आपत्ति प्रक्रिया में मौजूद हैं कई ख़ामियां

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Go to Top