Trainings & Workshops

Array
(
    [0] => 
)
Array
(
    [0] => 
)
Array
(
    [0] => 
)
Array
(
    [0] => 
)
Array
(
    [0] => 
)
Array
(
    [0] => 
)
Array
(
    [0] => 
)
Array
(
    [0] => 
)
Array
(
    [0] => 
)
Array
(
    [0] => 
)

The year that was: Detention camps, healthcare crisis, violation of Constitution! CJP looks back at campaign progress in UP's Purvanchal region and Assam

Working as a single unit, organisations like Citizens for Justice and Peace (CJP), the All India Union of Forest Working People (AIUFWP), and the Delhi Solidarity Group (DSG) have closely observed the state of Covid-19 crisis in India and the government’s attitude towards it. Over the last four to five weeks, the groups examined the…

CJP’s online training programme on CAA-NPR-NRC CJP addressed activists and educationists in Mumbai about India’s citizenship laws

Amidst the Covid-19 chaos, many pressing social issues were side-lined at the beginning of 2020. Among them were some of the most pivotal movements against the Citizenship Amendment Act (CAA), National Population Register (NPR) and the National Register of Citizens (NRC). While the physical presence of this dissent had to be withdrawn, organisations like Citizenship…

Repeal UAPA: End targeting of minorities and dissenters Day one of a three-day consultation on inhuman provisions of anti-terror laws

The People’s Union for Civil Liberties (PUCL) along with a hundred organisations including the Citizens for Justice and Peace (CJP) organised a three-day consultation on the implementation of the Unlawful Activities (Prevention) Act (UAPA). The session began on January 20, 2021, and here’s what transpired on day one. Repeal of the UAPA and the National…

farm bills and FRA conversation

फार्म बिल का विरोध और वन अधिकार: एक वार्तालाप कृषि कानून, उसका विरोध और वन अधिकार

CJP सचिव तीस्ता सेतलवाड़ ने AIUFWP के महासचिव अशोक चौधरी, उप सचिव रोमा मलिक, AIUFWP नेताओं और फार्म बिल पर वन निवासियों के साथ एक लंबी एवं विस्तृत बातचीत की, जिसमे विरोध प्रदर्शन और वन अधिकारों और उनकी ऐतिहासिक प्रासंगिकता के सम्बन्ध में चर्चा हुई. Related: AIUFWP और वन आश्रित समुदाय ने किसान विरोधी कानून…

वनाधिकार क़ानून २००६ प्रशिक्षण सामुदायिक दावे और इन्हें दायर करने के अलग अलग चरण

CJP और AIUFWP द्वारा प्रस्तुत, यह वीडियो, वन अधिकार अधिनियम प्रशिक्षण के लिए है। इसका उद्देश्य वन श्रमिकों को और जमीनी स्तर पर वनाधिकार के लिए काम करने वालों को, सामुदायिक दावों के बारे में जानकारी देना है, ताकि FRA दो हज़ार छे को प्रभावी ढंग से पूरे देश में लागू किया जा सके। इस…

वनाधिकार क़ानून २००६ प्रशिक्षण भाग ३ सामुदायिक दावे और इन्हें दायर करने के अलग अलग चरण

CJP और AIUFWP द्वारा प्रस्तुत, यह पॉडकास्ट, वन अधिकार अधिनियम प्रशिक्षण के लिए है। इसका उद्देश्य वन श्रमिकों को और जमीनी स्तर पर वनाधिकार के लिए काम करने वालों को, सामुदायिक दावों के बारे में जानकारी देना है, ताकि FRA दो हज़ार छे को प्रभावी ढंग से पूरे देश में लागू किया जा सके। भाग…

वनाधिकार क़ानून २००६ प्रशिक्षण भाग २ पॉडकास्ट में समझें संविधान और वन अधिकार

CJP और AIUFWP द्वारा प्रस्तुत, यह पॉडकास्ट, वन अधिकार अधिनियम प्रशिक्षण के लिए है। इसका उद्देश्य वन श्रमिकों को और जमीनी स्तर पर वनाधिकार के लिए काम करने वालों को, सामुदायिक दावों के बारे में जानकारी देना है, ताकि FRA 2006 को प्रभावी ढंग से पूरे देश में लागू किया जा सके। भाग दो में जानी…

वनाधिकार क़ानून २००६ प्रशिक्षण भाग १ पॉडकास्ट में सुनिए FRA क़ानून बनाने की पृष्ठभूमि

CJP और AIUFWP द्वारा प्रस्तुत, यह पॉडकास्ट, वन अधिकार अधिनियम प्रशिक्षण के लिए है। इसका उद्देश्य वन श्रमिकों को और जमीनी स्तर पर वनाधिकार के लिए काम करने वालों को, सामुदायिक दावों के बारे में जानकारी देना है, ताकि FRA 2006 को प्रभावी ढंग से पूरे देश में लागू किया जा सके। भाग एक में सुनिए…

Legal muscle to defend Forest Rights Day 2 of CJP webinar sheds light on laws and their implementation

Day 2 of the CJP webinar titled Forest Rights Movement and Covid-19 saw a more in-depth discussion on the law and how its lax implementation had left millions of forest dwellers vulnerable. The webinar started with a beautiful song by the Adivasi women from Tharu tribe of Lakhimpur Kheri district of Uttar Pradesh about the struggle of the villagers of Kajaria.…

CJP webinar on Forest Rights: Testimonies from Grassroot Activists In Part 3 of our report on the CJP webinar, activists strike a hopeful chord

In the concluding part of Day 1 of CJP’s webinar, grassroot activists, many of whom work closely with our partner organisation All India Union of Forest Working People (AIUFWP) shared stories of small victories that helped end the day on an upbeat note. Nivada Rana: We have been facing oppression since the days of my…

Go to Top