Menu

Citizens for Justice and Peace

Sukalo

Teesta Setalvad and Roma talk to Adivasi Human Rights Activists and Forest Dwellers in Sonbhadra, UP, India

इससे न सत्य मिलेगा न ही न्याय : NHRC की अपर्याप्त जांच पर AIUFWP सचिव रोमा की प्रतिक्रिया मई महीने में सीजेपी और AIUFWP द्वारा की गई साझी शिकायत पर NHRC का जवाब

ऑल इंडिया यूनियन ऑफ फ़ॉरेस्ट वर्किंग पीपल (AIUFWP) की सदस्य रोमा ने 20 जून 2018 को सीजेपी की सचिव तीस्ता सेतलवाड़ के साथ संयुक्त रूप से एक शिकायत दर्ज कराई थी. इस शिकायत के सम्बन्ध में 20 सितंबर 2018 को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) से एक जवाब प्राप्त हुआ. ये शिकायत, उत्तर प्रदेश (यूपी) के सोनभद्र के लिलासी गांव में पुलिस द्वारा बरती…

Roma Malik

सोनभद्र की बेटी सुकालो मानवाधिकार रक्षक का परिचय

यह कहानी है सुकालो गोंड की. एक ऐसी आदिवासी महिला, जिसने झुकने से इनकार किया और अपने आदिवासी भाई-बहनों के वन अधिकार के लिए संघर्ष करते हुए, आज भी डटी हुई हैं. सुकालो उस संघर्ष का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा हैं जिसने देश के वन अधिकार अधिनियम, 2006 को उत्तर प्रदेश के सोनभद्र क्षेत्र में स्थापित किया.…

Allahabad HC seeks information on two missing tribal women Times of India

ALLAHABAD: The Allahabad high court on Friday directed the UP government’s counsel to provide information with regard to alleged illegal detention of two tribal (Adivasi) women of Sonbhadra district, who have been missing and their whereabouts are not known since they were forcibly taken away by police on June 18. Hearing a habeas corpus writ petition filed…

Sonbhadra Adivasis

सोनभद्र UP में मानवाधिकार रक्षक गिरफ्तार, NHRC ने किया हस्तक्षेप, कारवाई का दिया आश्वासन AIUFWP नेता रोमा और अन्य लोगों ने CJP के नेतृत्व में NHRC रजिस्ट्रार से बात की, उन्हें अवैध गिरफ्तारियों का ब्यौरा सौंपा

नेशनल ह्यूमन राइट्स कमीशन (NHRC) ने मामले में हस्तक्षेप करते हुए सोनभद्र के पुलिस अधीक्षक और ज़िला न्यायधीश से 6 जून को सोनभद्र में हुई आदिवासी महिलाओं और पुरुषों की अवैध हिरासत और उसपर हुई कारवाई के बारे में पूछा. हिरासत में लिए गए सभी लोग ऑल इंडिया यूनियन ऑफ़ फारेस्ट वर्किंग पीपल्स (AIUFWP) के साथ…

UP cops “beat up, drag” tribal women for second time in a week for campaigning to reclaim their forest land Counterview

In a shocking incident, around 30 to 40 Uttar Pradesh’s police officers on Tuesday reportedly barged into tribal women’s homes in Lilasi Kala village of the Sonebhadra district, which has a population of 1,160, with sticks and a revolver gun, and assaulted them, did not even sparing children as young as 10-years old. One woman…

Reclaiming Land through Peaceful Struggles Adivasis in Sonbhadra and their Quest for Justice and Identity

In September 2017, Justice P B Sawant, Justice Kolse Patil and human rights activist, journalist and educationist Teesta Setalvad wrote a letter to the District Magistrate, Pramod Kumar Upadhyay of the Lodhi village in district Sonbhadra, Uttar Pradesh (UP) urging that senior officers of the police and administration look into all the alleged false and…

Go to Top