Menu

Citizens for Justice and Peace

#Mahatma Jyotiba Phule

कुछ अनोखे प्रेम पत्र सावित्री बाई और ज्योतिबा फुले के प्रेम एवं सामाजिक चेतना के प्रतीक

सावित्रीबाई फुले यकीनन भारत की पहली महिला शिक्षिका और मुक्तिदाता थीं जिन्हें इतिहास ने लगभग भुला दिया है, 176 साल पहले 1831 में उनका जन्म हुआ और 3 जनवरी उनका जन्मदिन है, विभिन्न जातियों की लड़कियों के लिए पहले विद्यालय की स्थापना भाईडेवाड़ा, पुणे (ब्राह्मणों का गढ़) में करने वाली, क्रांतिज्योति सावित्रीबाई, अनेक रूप से…

Go to Top